high court gives order to google

दिल्ली हाई कोर्ट ने JNU हिंसा मामले में गूगल और वाट्सअप को आदेश दिए

 
JNU हिंसा के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने आदेश दिए हैं गौरतलब है की 5 जनवरी की रात में जवाहर लाल यूनिवर्सिटी में हिंसा हुई थी जिसमें कई उपद्रवियों की तस्वीरें वीडियो वायरल हुई थी लेकिन फिर भी पुलिस के हाथ कोई सबूत नहीं लगे थे जिस कारण से उपद्रव फ़ैलाने वाले दंगाइओं को पुलिस पकड़ने में नाकाम रही हे इसी के चलते दिल्ली हाई कोर्ट ने पुलिस से सबूत इकठ्ठा करने की बात कही है 

JNU-news
JNU
     JNU हिंसा मामले में एक नया मोड़ आया है जहाँ 5 जनवरी की रात में जो हिंसा हुई थी उस रत के वीडियो का डाटा हाई कोर्ट ने गूगल और वाट्सएप नाम की कंपनियों से माँगा है गौरतलब है की हाई कोर्ट ने 5 जनवरी की रात में हुई JNU हिंसा के सबूतों को गूगल और वाट्सएप से डाटा सुरक्षित रखने की बात कही है 

दिल्ली हिघ्कोर्ट चाहता है की जो भी विवाद  दो पक्षों उसमे कोन कोन लोग शामिल थे इसकी पुष्टि नहीं हो पायी है एवं पुलिस के हाथ या तो कोई सबूत नहीं लगे हैं या पुलिस जानबूझ कर उपद्रवियों को बचने की कोशिश कर रही है जिस  कारण से जो लोग कसूरवार हैं वह आसानी से खुले घूम रहे हैं और पुलिस अभी तक उनका पता नही लगा पायी है ऐसी स्तिथि में दिल्ली हाई कोर्ट ने गूगल और वाट्सअप को आदेश दिए हैं की वह डाटा सुरक्षित रखें जिससे सही गुनहगारों को पकड़ा जा सके





कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.